प्रशिक्षण क्या है? प्रशिक्षण का प्रमुख उदेश्य क्या है | What is Training in hindi

What is Training in Hindi : कर्मचारियों की क्रियाओं का सफल सम्पादन एवं संचालन के लिए एक विशेष प्रकार की सैद्धांतिक एवं व्यावहारिक ज्ञान, योग्यता एवं कौशल (Skill) की आवश्यकता होती है. प्रशिक्षण में ‘दिखाना, समझना, और कराना, तीनों ही क्रियाएं शामिल है. ये क्रियाएं तब तक चलती रहती है जब तक की कौशल, अभिरुचि एवं व्यव्हार में वांछित परिवर्तन ना हो जाए.

प्रशिक्षण किसे कहते हैं – What is Training in hindi

कर्मचारियों को किसी कार्य के प्रभावी सम्पादन के सम्बन्ध में शिक्षा देना ही प्रशिक्षण कहलाता है. अर्थात संगठन के कार्य को सहीं ढंग से पूरा कराने हेतु कर्मचारियों को प्रदान की जाने वाली शिक्षा ही प्रशिक्षण के नाम से जानी जाती है. विभिन्न विद्वानों ने इस संबंध में अपने विचार निम्नलिखित प्रकार से व्यक्त किए हैं

प्रशिक्षण की परिभाषा – Definition of Training in Hindi

प्रो. जूसियस के – “अनुसार प्रशिक्षण ऐसी प्रक्रिया है जिसमें विशिष्ट कार्यों के संपादन हेतु कर्मचारियों की अभिवृत्तियों, निपुणताओं एवं योग्यताओं में अभिवृद्धि की जाती है.

एडविन. बी. फिलिप्पो के अनुसार – “प्रशिक्षण किसी विशेष कार्य को करने हेतु कर्मचारियों के ज्ञान एवं कौशल में अभिवृद्धि करने की एक क्रिया है.

डेल.एस.विच के शब्दों में – “प्रशिक्षण एक ऐसी संगठित प्रक्रिया है. जिसके द्वारा लोग एक निश्चित उद्देश्य के लिए ज्ञान अथवा चातुर्य सीखते हैं.

विभिन्न विद्वानों के विचारों को अध्ययन करने के पश्चात यह कहा जा सकता है कि किसी कार्य को प्रभावी ढंग से पूरा करने की कला का उद्देश्यपूर्ण शिक्षण ही प्रशिक्षण (Training) कहा जाता है. प्रशिक्षण के अंतर्गत कर्मचारियों के कार्य संबंधी ज्ञान एवं कौशल में वृद्धि होती है. जिससे संस्था एवं कर्मचारियों दोनों को ही लाभ पहुँचता है.

प्रशिक्षण का उद्देश्य – Objective of Training in Hindi

प्रशिक्षण का प्रमुख उद्देश्य इस प्रकार है –

  • कार्यालय संगठन के लक्ष्यों की प्राप्ति में सहयोग
  • कुशल अधिकारियों को तैयार करना
  • कुशल श्रम शक्ति की सतत आपूर्ति सुनिश्चित करना
  • कर्मचारियों को उपक्रम के लक्ष्यों व नीतियों से परिचित करवाना
  • कर्मचारियों को आधुनिक व परिवर्तित तकनीकों से परिचित करवाना
  • कर्मचारियों में परस्पर सहयोग की भावना का विकास करना
  • कर्मचारियों को औद्योगिक वातावरण में ढालना
  • मानवशक्ति का अधिकतम विकास करना
  • कर्मचारियों का मनोबल में वृद्धि करना
  • कार्यसम्पादन में सुधार करना
  • मानवीय आवश्यकताओं की पूर्ति करना
  • कर्मचारियों की कुशलता में वृद्धि करना
  • संबंधित विभाग एवं कार्य-संचालन का ज्ञात करना.

प्रशिक्षण का क्या महत्व है – Importance of Training in Hindi

आज के औद्योगिक संसार में उद्योग एवं कर्मचारियों के सुदृढ़ अस्तित्व के लिए तीव्र गति से होने वाले विकास के साथ दौङना अत्यंत आवश्यक है. आज वैज्ञानिक विकास की चरम सीमाओं ने औद्योगिक क्षेत्र में जो क्रांति उत्पन्न की है. उसको समझने एवं उनके अनुरूप औद्योगिक क्रियाओं को आगे बढ़ाने के लिए केवल अनुभव एवं परिश्रम ही काफी नहीं है. अपितु ऐसे प्रशिक्षण की भी आवश्यकता है जिसमे व्यावहारिक ज्ञान प्राप्ति के साथ-साथ सैद्धांतिक अध्ययन की गहराइयों को भी मापा जाना सम्भव हो ताकि कर्मचारियों के मस्तिष्क में बुनियादी परिवर्तन लाया जा सके और उनको औद्योगिक जटिलताओं का सफलतापूर्वक सामना करने के योग्य बनाया जा सके..

प्रशिक्षण के महत्व को बारीकी से समझें –

कर्मचारियों का मनोबल ऊँचा उठाने के लिए

प्रशिक्षण कर्मचारियों की कार्य कुशलता में वृद्धि करता है. जिससे उसे आत्म संतुष्टि होती है तथा उसका मनोबल ऊँचा उठता है. प्रशिक्षण कर्मचारियों में स्वाभिमान की भावन जागृत कर उन्हें संस्था के प्रति आस्थावान एवं निष्ठावान बनाता है.

कर्मचारियों की उत्पादकता में वृद्धि हेतु

प्रशिक्षण कर्मचारियों को कार्य करने का ढंग सिखाता है जिससे उनकी कार्यक्षमता में वृद्धि होते है एवं दुर्घटनाओं में कमी आती है तथा वे बिना किसी अवरोध के कम के कम समय में अधिक कार्य करने की योग्यता प्राप्त करते है.

पर्यवेक्षण में कमी करने के लिए

प्रशिक्षण द्वारा कर्मचारियों की कुशलता, योग्यता एवं अनुभव में वृद्धि होती है जिसके परिणामस्वरूप उनमे कार्य करने की जिम्मेदारी का विकास होता है और पर्यवेक्षक की आवश्यकताओं में कमी आती है.

दुर्घटनाओं में कमी करने के लिए

कर्मचारियों को प्रशिक्षण द्वारा कार्य करने का सहीं ढंग सिखाया जाता है. उन्हें बताया जाता है की मशीनों का संचालन किस प्रकार किया जाना चाहिए तथा किन-किन सावधानियों को बरता जाना चाहिए. सहीं ढंग से कार्य करने एवं आवश्यक सुरक्षात्मक उपायों को अपनाने से दुर्घटनाओं में कमी आती है.

कर्मचारियों के विकास हेतु

प्रशिक्षण कर्मचारियों के ज्ञान एवं कौशल में वृद्धि करता है जिससे उनकी गतिशीलता में वृद्धि होती है. उनकी उन्नति की संभावनाओं का विकास होता है. एवं उनके विचारों में क्रांति उत्पन्न होती है.

संगठनात्मक स्थिरता लाने के लिए

प्रशिक्षण संगठनात्मक स्थिरता को जन्म देता है. प्रशिक्षण के पश्चात कर्मचारी अपने समकक्ष अथवा अपने से ऊपर के पद को सम्हालने के योग्य हो जाते हैं. तथा रिक्त होने वाले पदों की कर्मचारियों की नियुक्ति संबन्धी समस्या का समाधान करते हैं. प्रशिक्षण संगठन में कार्य की निरंतरता को जन्म देकर उसकी गति में भी वृद्धि करता है.

इन्हे भी पढ़ें


आखिर में

हमे पूरी उम्मीद है कि आपको हमारा यह लेख…प्रशिक्षण क्या है? प्रशिक्षण का प्रमुख उदेश्य क्या है (What is Training in hindi) पसंद आया होगा. कृपया करके इस लेख को अधिक से अधिक Shear करें ताकि ज्यादा से ज्यादा लोग इसका लाभ उठा सके. अगर लेख से संबंधित किसी प्रकार की शिकायत हो तो Comment Box के माध्यम से हमें अवश्य कहें.

अगर आप रोजाना इसी तरह के उपयोगी आर्टिकल पढ़ना चाहते हैं तो हमारे टेलीग्राम ग्रुप और जीमेल को सस्क्राइब कर ले जिसका लिंक नीचे दिया हुआ है. पढ़ने के लिए और हमारे घंटों की मेहनत को सफल बनाने के लिए – धन्यवाद.

RELATED ARTICLES

Leave a Reply

Most Popular

close button