उद्यमी क्या कार्य करता है सम्पूर्ण जानकारी | work of entrepreneur in hindi

उद्यमी क्या कार्य करता है? (udyami ke karya hindi) : हमने उद्यम से संबंधित अनेक लेख लिखें हैं जिन्हे पढ़कर आप उद्यमी और उद्यमिता क्या है? इसके संबंध में आसानी से बहुत ही सरल शब्दों में जान पाएंगे । इस लेख..उद्यमी के कार्य में उद्यमी के कार्य संबंधित सभी जानकारियां दी गई है इसलिए कृपया करके यह लेख पूरा पढ़ें।

जैसा कि आप जानते हैं उद्यमी (entrepreneur) किसी वैज्ञानिक से कम नहीं होता, क्योंकि जिस तरह वैज्ञानिक नए-नए अविष्कार करता है ठीक उसी तरह एक उद्यमी भी अपने ideas से नए-नए चीजों का अविष्कार करता रहता है।

उद्यमी हजारों दिमाग वाला नेता के सामान होता है, जो अपने तीव्र बुद्धि और सूझ-बुझ के द्वारा उद्यम की स्थापना करता है और उसका संचालन करता है।

उदाहरण के लिए एलन मस्क एक चर्चित और प्रभावशाली उद्यमी है जिन्होंने टेस्ला, स्पेस एक्स, सोलर सिटी इत्यादि उद्यम की स्थापना की जो दुनिया में बड़े स्तर पर बदलाव लाने में सक्षम है।

उद्यमी के एक नहीं बल्कि अनेक कार्य होता है तो चलिए देर ना करते हुए उद्यमी के कार्यों के बारे में जानते हैं।

विषय-सूची

उद्यमी क्या कार्य करता है?

उद्यमी क्या कार्य

उद्यमी के कार्य एक नहीं बल्कि अनेक होते हैं तो चलिए देर ना करते हुए उद्यमी के कार्यों के बारे में जानते हैं –

1. उद्यमी का सबसे पहला कार्य अवसर की पहचान करना

अवसरों की पहचान से तात्पर्य है कि बाजार में किस चीज में मांग है। किस चीज का उत्पादन करना चाहिए जिससे कम लागत में अच्छा मुनाफा कमाया जाये व जो लोगों के लिए भी फायदेमंद हो।

आज के समय में लोगों के शौंक दिन ब दिन बढ़ते ही जा रहे हैं ऐसे में लोगों के इन्ही शौंक ध्यान में रखना और उनके हिसाब से सुविधाएं प्रदान करना उद्यमी की सोच होना चाहिए।

उदाहारण के लिए – फ्लिपकार्ट से पहले कई उद्यम थे परन्तु फ्लिपकार्ट ही सबसे ज्यादा पॉपुलर क्यों हुआ… कारण है ग्राहकों की जरुरत को समझना जैसे – cash on delivery की सुविधा प्रदान करना, घर पहुंच सुविधाएं देना इत्यादि।

एक बात हर उद्यमी को अच्छे से समझ लेना चाहिए कि वह अन्य उद्यमियों की अपेक्षा कम कीमत पर बेहतर सुविधाएं लोगों के लिए लेकर आये तभी वह उद्यम में सफल हो सकता है। और यह उद्यमी का प्रथम कार्य है।

2. उद्यमी का कार्य जोखिम उठाना

जोखिम उठाना उद्यमी का प्रमुख कार्य है, एक उद्यमी इसी तरह जीना पसंद करता है। खतरा उठाना उसके लक्षणों में शामिल है, चुकि वह हमेसा नए-नए रिस्क लेता रहता है।

अपने द्वारा जमा किये गए सभी पूंजियों को भी वह दाव पे लगा देता है, एक नए निर्माण के लिए, वह भी तब जब कार्य के सफल होने की कोई गारंटी भी ना हो। हालांकि कई ऐसे उद्यमी भी है जो सामान्य रिस्क लेना पसंद करते हैं बजाय अधिक रिस्क के।

इस तरह देखा जाये तो एक उद्यमी खतरों का खिलाडी होता है और खतरों से खेलना उसका शौंक।

3. उद्यमी का कार्य प्रोजेक्ट की प्लानिंग करना

प्रोजेक्ट प्लानिंग के अंतर्गत उद्यमी का कार्य अपने उद्यम के लिए परियोजना बनाना होता है। जैसे – उत्पादकता कैसी होनी चाहिए, किन वस्तुओं की कितनी मात्रा में उत्पादन होनी चाहिए।

उत्पादन के लिए किन-किन वस्तुओं की आवश्यकता होगी इत्यादि का गहन विश्लेषण करना व कार्यों का मैनेजमेंट तथा परियोजना planing करना उद्यमी का कार्य होता है।

4. पैसों की व्यवस्था करना भी उद्यमी का कार्य है

किसी भी उद्यम के शुरुवात में अधिक से अधिक मात्रा में धन की आवश्यकता होती है। पैसों की management तथा वित्तीय संबंधित सभी जुम्मेदारी उद्यमी की होती है। जिसमे पैसों की व्यवस्था करना, बैंक से ऋण लेना, बाजार से ऋण लेना, स्वयं की पूंजी लगाना इत्यादि कार्य शामिल है।

उद्यमी जब पैसों की व्यवस्था कर लेना है तब उन पैसों का संचालन….. कितना पैसा शुरुवात में खर्च किया जाये, कितना बचाया जाये, कितना उत्पादन में खर्च किया जाये व कितना विज्ञापन में इत्यादि सभी प्रकार की धन संबंधित निर्णय लेने का कार्य उद्यमी का होता है।

5. सभी प्रकार की अनुमति व लायसेंस प्राप्त करना उद्यमी का कार्य है

उद्यम के निर्माण के लिए विभिन्न प्रकार के सरकारी नियमों का पालन करना पड़ता है। अनेक प्रकार के सरकारी कर चुकाने होते हैं, एक उद्यमी को सभी के साथ अच्छे तालमेल बनाकर चलना होता है

क्योंकि उसके ज्यादातर कार्यों में सरकार की अनुमति जरुरी होती है। उद्यम संबंधित सभी टैक्स को चुकाना तथा जरुरी लायसेंस प्राप्त करना उद्यमी का कार्य होता है।

6. उद्यम के लिए उचित भू-भाग का चुनाव करना उद्यमी का काम है

उद्यम के लिए सहीं जगह का चुनाव बहुत महत्वपूर्ण है। अगर सहीं जगह का चुनाव कर लिया जाये तो उद्यम करना थोड़ा आसान हो जाता है क्योंकि उद्यम में आवश्यक चीजे जैसे – कच्चा माल, जल की व्यवस्था, मशीनरी इत्यादि की जरुरत होती ही है।

अगर उद्यमी ने ऐसे जगह का चुनाव किया है जहाँ पर ये सभी आवश्यक चीजें उपलब्ध है या उस जगह के कारीब है। तो इससे उद्यम में अधिक आसानी होगी।

7. उद्यमी का कार्य उद्यम के लिए कच्चा-माल प्राप्त करना

कच्चा-माल से तात्पर्य उद्यम के लिए उपयोग में लाये जाने वाले सामानों से हैं उदाहरण के लिए अगर कोई कपड़ों का उद्यम शुरू करता है तो उसे रेशों (धागों) की आवश्यकता होगी यही धागा कच्चा माल है जिससे कपडा तैयार किया जाता है।

एक उद्यमी का कार्य अच्छे क्वालिटी का कच्चा-माल उचित दाम पर प्राप्त करना तथा अन्य से कम लागत पर वस्तु का उत्पादन करना होता है ताकि वह लोगों के लिए भी कम कीमत पर उपलब्ध हो।

8. उद्यमी का कार्य उत्पादन में सुधार व गुणवत्ता लाना

उद्यमी का कार्य केवल उत्पादन करके पैसे कमाना ही नहीं होता बल्कि लगातार उत्पादन की गुणवत्ता में सुधार व लोगों के लिए बेहतर से बेहतर चीजों का निर्माण, उद्यमी का दायित्व होता है। उद्यमिता जोखिम से भरा होता है क्योंकि इसके अपने कम्पटीटर से best व सस्ता प्रोडक्ट देना होता है।

और यह बात प्रायः सभी जानते हैं कि competition हमेसा best देता है। इस प्रकार एक उद्यमी हमेसा गुणवत्ता सुधार के लिए कार्य करता रहता है।

9. उद्यम के लिए आवश्यक मशीनों का प्रबंध उद्यमी का कार्य

मशीनों के बिना उद्यम की कल्पना करना थोड़ी मुश्किल है। उद्यम में प्रयुक्त होने वाले सभी प्रकार की मशीनरी का प्रबंधन उद्यमी का कार्य है। इसके अंतर्गत समय-समय पर मशीनों का बदलाव और नए मॉडलों के मशीनों का उपयोग तथा इसके रख-रखाव इत्यादि कार्य आते हैं।

उचित मशीनों के उपयोग के द्वारा ही प्रोडक्शन को बढ़ाया जा सकता है और लागत मूल्य को कम किया जा सकता है।

10. नए-नए चीजों का अविष्कार करना उद्यमी का कार्य है

जैसा की ऊपर बताया गया है उद्यमी एक वैज्ञानिक के सामान होता है। जो अपने नए-नए आइडियाज के माध्यम से नए चीजों का अविष्कार करता है। उद्यमी को उनके आविष्कारों के कारण जाना जाता है।

हमने भारत के युवा उद्यमियों पर एक लेख पहले ही लिखा हुआ है जिसे पढ़कर आप उद्यमियों और उनके आविष्कारों को अच्छे से समझ पाएंगे।

11. देश की अर्थव्यवस्था में अपना योगदान देना

उद्यमिता जोखिम भरा होता है परन्तु कहा गया है जितना अधिक रिस्क होगा उतना अधिक पैसा होगा । देश की अर्थव्यवस्था में सबसे ज्यादा योगदान उद्यमियों का ही होता है वे अधिक मात्रा में सरकार को कर चुकाते हैं।

यह कर देश की अर्थव्यवस्था को बेहतर करने में सहायक है। इस प्रकार उद्यमिता एक ऐसा क्षेत्र है जो हर प्रकार से बदलाव लाने में सक्षम है।

12. समाज के विकास में उद्यमिता सहायक है

उद्यमिता से समाज में नए बदलाव होते हैं लोगों के सोंच का नजरिया बदलता है। उद्यमिता समाज में रोजगार लेकर आता है साथ ही इससे समाज के अनेक लोग प्रेरित होते हैं और स्वयं को बेहतर करने की दिशा में कार्य करते हैं।

आज के समय में अनेक ऐसे महान उद्यमी है जो लोगों के लिए प्रेरणा का स्त्रोत हैं, जैसे – एलन मस्क, रतन टाटा, इत्यादि।

13. उद्यमी का महत्वपूर्ण कार्य अपने team का हौसला बनाये रखना

चुकि उद्यमिता जोखिम भरा है इसलिए कई-कई बार ऐसी स्थिति निर्मित हो जाती है जिससे team का मनोबल टूटने का खतरा रहता है। ऐसी स्थिति में खुद को पॉजिटिव बनाये रखना तथा team को हौसला देना उद्यमी का कार्य होता है।

एलन मस्क अपने रॉकेट लांच के प्रोजेक्ट में तीन बार फैल हुए। उनका सब कुछ बिकने के कगार पर था, सारी संपत्ति खो चुके थे बावजूद इसके वे सकारात्मक रहे। और उतना ही श्रेय उनके team को जाता है जिन्होंने एलन मस्क का साथ नहीं छोड़ा और सकारात्मक ऊर्जा के साथ लगे रहे। इससे पता चलता है कि team का हौसला बनाये रखना उद्यमी का महत्वपूर्ण कार्य है।

14. अपने उत्पाद को लोगों तक पहुंचाने के लिए कार्य करना

जितना जरुरी उत्पादन करना है उतना ही जरुरी अपने उत्पादित वस्तुओं को लोगों तक पहुँचाना है यह एक उद्यमी का कार्य है। वस्तु को लोगों तक पहुंचाने के लिए सबसे पहले प्रचार-प्रसार, विज्ञापन इत्यादि की जरुरत पड़ती है। इसकी डिटेल जानकारी हमने पहले ही लिखी हुई है जिसे आप अवश्य पढ़ें –

यहाँ पढ़ें – स्वरोजगार के तरीके और फायदे

15. उद्यमी का कार्य लक्ष्य निर्धारण करना

किसी उद्यम में लक्ष्य निर्धारण बहुत ही आवश्यक है। लक्ष्य के बिना उद्यम में सफल होना नामुनकिन है, एक बार लक्ष्य निर्धारण करने के पश्चात दिन रात उसके प्राप्ति के लिए कार्य करना एक उद्यमी का गुण होता है। एक लक्ष्य पूरा होने पर दूसरा लक्ष्य निर्धारित करना यह उद्यमी के जीवन का हिस्सा है।

FAQ

उद्यमी के क्या कार्य हैं?

उद्यम का संचालन करना व उद्यम संबंधित सभी प्रकार की जोखिम उठाना साथ ही सफल होने पर अत्यधिक मुनाफा कमाना उद्यमी के कार्य होता है। उद्यमी एक वैज्ञानिक की तरह लोगों का जीवन आसान बनाने के लिए नए-नए अविष्कार करता है।

एक सफल उद्यमी के गुण और कार्य क्या है?

एक सफल उद्यमी का गुण यह है कि वह हमेसा सकारात्मक बने रहता है। असफल होने पर भी हार नहीं मानता बल्कि अपने असफलता से सीखकर एक नई शुरुवात करता है। सफल उद्यमी का कार्य यह है कि जब तक लक्ष्य प्राप्ति ना हो अपने कार्य में लगे रहे चाहे रास्ते में कितनी भी मुश्किलें क्यों ना आये।

उद्यमी क्या कार्य करता है video के माध्यम से समझें –

उद्यमी के कार्य (udyami ke karya)

निष्कर्ष

उद्यमिता आसान नहीं होता, एक उद्यमी को हजारों प्रकार के मुश्किलों का सामना करना पड़ता है। उद्यमिता जिस प्रकार बाहरी जोखिम से भरा हुआ है उसी प्रकार यह आंतरिक जोखिम का भी उदाहरण है। एक उद्यमी मानशिक रूप से भी बहुत बड़ा जोखिम उठाता है।

यह जोखिम उद्यमी के साथ-साथ उसके team के लिए भी होती है। अगर उद्यमी असफल होता है तब उसके साथ पूरा टीम असफल होता है।

अंत में

आशा करते हैं आपको हमारा यह लेख उद्यमी क्या कार्य करता है ? उद्यमी के कार्य (work of entrepreneur in hindi) उपयोगी लगा हो। इस आर्टिकल को अपने दोस्तों के साथ shear कर उपयोगी बनायें साथ ही comment box के माध्यम से इस लेख पर अपनी प्रतिक्रिया जरूर दें।

नए-नए जानकारियों के लिए आप हमसे टेलीग्राम ग्रुप या जीमेल सब्सक्रिप्शन से जुड़ सकते हैं जो बिल्कुल फ्री है। informationunbox.com पर आने के लिए दिल से सुक्रिया – धन्यवाद,

अन्य पढ़ें

Leave a Reply