दिल टूटने पर अपने आप को कैसे सम्हालें | कैसे खुद को सकारात्मक Positive रखें

दोस्तों बताने बैठू तो लगता है पूरी जिंदगी कम पड़ जायेगी अपनी पुरानी जिंदगी की दास्तान सुंनाने में, कितनी उतार चढ़ाव नजर आती है ये जिंदगी अगर पीछे मूड के देखा जाए तो। और ये हाल सिर्फ मेरा ही नहीं है ये हाल तो अनेकों लोगों का है शायद आपका भी हो ।

मुझे उतना तो पता नहीं है परन्तु यह कह सकता हूँ की life में एक ऐसा मोड़ आता है जिसमे जीने की इक्षा खत्म सी हो जाती है। 

सारी दुनिया साथ होते हुए भी वीरान सी लगने लगती है। पता नहीं आप किस तरह के दर्द से गुजर रहे हों क्योंकि सबकी जिंदगी की दर्द अलग-अलग होती है। और जब ऐसी स्थिति होती है तो भले ही लोग कहें कि मै आपका दर्द समझ सकता हूँ

परन्तु सच कहूं तो उस दर्द तो वही समझ सकता है जो व्यक्ति उस दर्द सह रहा होता है। मेरा भी यही हाल कुछ सालों पहले था और शायद आज भी है पर वक्त के साथ मैने जीना सीख लिया, और आप भी यह कर सकते हैं ।

ये मै इसलिए बोल रहा हूँ क्योंकि आप शायद यकीन ना करें पर मैने खुद अपनी जिंदगी कई बार ख़त्म करनी चाही परन्तु कर नहीं पाया। शायद माँ बाप की जुमेदरियों रोक लिया या दोस्तों के साथ ने या फिर उस के भरोसे ने – जो मेरी होकर भी life time के लिए मेरी नहीं हो पायी (हाँ बेसक वो आज भी मेरे साथ है और हमेसा रहेगी, क्योंकि बेवफा ना वो थी ना मैं था, बेवफा तो हमारी किस्मत और वक्त थी)

कहने को तो 3 साल एक माह और सात दिन बीत गए पर लगता है जैसे कल ही की तो बात जब वह साथ थी।

मैने किस तरह के दिन देखे, कैसे करके अपने एक-एक पल सालों जैसे बिताये । किस तरह मै अपनी दुनिया उजड़ने के बाद भी आज उसके यादों के सहारे ठीक हूँ यह मेरा दिल ही जानता है इसलिए तो कहता हूँ, आप भी सम्हल सकते हैं। 

कहने को तो बात बस इतनी है कि आपकी दिल की हाल आप खुद समझ सकते हैं दूसरा कोई नहीं । परन्तु इस टूटे दिल और उजड़े हुए दुनिया के सहारे आप आगे बढे बस यही कहना चाहूंगा। मुझे नहीं पता कि आप किस दर्द से गुजर रहे हैं परन्तु इतना हौसला आपको जरूर दे सकता हूँ इस लेख के माध्यम से कि आपको थोड़ी राहत मिल जाये। 

हमें लगता है की हमारे जिंदगी में दुःख है वह सबसे बड़ा है ऐसा दुःख किसी के नहीं झेला होगा और यह सहीं भी है । इसकी भरपाई जीवन भर नहीं हो सकती परन्तु आपको तो जीना पड़ता है मेरे दोस्त। बेसक अपने लिए नहीं पर उस प्यार के लिए और अपने परिवार के लिए।

हाँ कई-कई बार जब हम उस दुःख से निकल पाने के हलात में नहीं होते, लगता है की दुनिया ख़त्म सी हो गयी है, सब कुछ होते हुए भी हमारे जिंदगी में सूनापन आ जाता है, जीने की उम्मीद भी मर जाती है। 

जब जमाने को और दोस्तों को भी लगने लगता है की इसका कुछ नहीं हो सकता, ये कभी सुधर नहीं पायेगा, क्या इसकी हालात कभी ठीक भी हो पायेगी । तब आप उन सब चीज़ो को पिछे छोड़कर आगे निकल जाते हो और किसी अच्छे पल को जीते हुए पुरानी जिंदगी के बारे मे सोचते हो तब वह पल कितना नासमझी भरा और बेवकूफी वाला लगने लगता है।

पर इसी बेवकूफी भरे पल से हर व्यक्ति नहीं निकल पाता है, निकल पाता है तो वह जो अपनी सोंच को विसम परिस्थिति में भी (positive) सकारात्मक रख पाता है, और अपने हालातो से लड़ पाता है। 

पर एक सच्चाई यह भी है जब दुःख, तकलीफ वाली परिस्थिति आती है तब अच्छे-अच्छे positive सोच वाले भी हार मान जाते हैं. दोस्तों जीवन संघर्ष का नाम है, जहाँ संघर्ष नहीं, वहा जीवन नहीं। इस तरह अपनी सोच बनाये और अपने लिए नहीं तो कम से कम अपने परिवार के लिए खुश रहने का तरीका तलासिये।

काश यह बात हर कोई समझ जाये तो सभी की परिस्थिति आसान हो जाएगी। Friend’s अगर आत्मविश्वास दृढ हो तो विकट से विकट परिस्थिति से भी निकला जा सकता है। 

अपने मन में हमेसा यह सोच रखे कि – चाहे कैसा भी वक्त हो मेरा ठीक है आज बुरा है, पर कल बुरा नहीं होगा । दुख आ रहा है रास्ते में इसका मतलब कुछ अच्छा ही सोचा है भविष्य ने मेरे लिए –

प्यार पूरा न हो पाने के दर्द?

यू तो इस मामले में सबकी अपनी-अपनी राय होती है, हालांकि जो भी ये दर्द सह रहा होता है। उसे लगता है की इस दुनिया में मेरे अलावा किसी ने एसा पल नहीं देखा होगा, या ऐसा दर्द नहीं सहा होगा, ये परिस्थिति ही अजीब होती है पूरी दुनिया गलत लगने लगती है, सपना जो टूट गया, जिंदगी जो छूट गयी । अब जीने का क्या मतलब, ऐसा लगने लगता है।

ऐसे समय के लिए कहा गया है – डूबते को तिनके का सहारा काफी होता है। 

ये बात गहराई से तब पता चलती है – की डूबते को तिनके का सहारा काफी होता है । जब सब परिस्थिति आपके विपरीत हो आप अगले ही पल क्या कर ले इस चीज़ का अंदाज़ा न हो ।अगर थोड़ा सा भी कोई सहारा न देता या ऐसे पल में आपको समझाता न तो आज आप इस दुनिया में ना होते,

दोस्तों इस तरह जिंदगी आगे बढ़ती है और सुख-दुःख आते जाते रहते है। परन्तु एक बात याद रखिये हर परिस्थिति में खुद को ढाल लेने वाला ही हमेसा खुश रह सकता है। यह सोचिए कि इस दुनिया में कोई एक यक्ति तो होगा जिसका हाल मेरे हाल जैसा होगा । वह मुझे जीने की कला सिखायेगा मै भी उसी की तरह जी पाऊंगा। 

कुछ अच्छे विचार –

फूल बन कर जीने से क्या फाइदा पल मे मुरझा जाओगे,

फूल बनकर जीने से क्या फायदा पल में मुरझा जाओगे।

जीना है तो पत्थर बन कर जियो, कभी तरासे गये तो खुदा/भगवान कहलाओगे। 

घायल परिंदा है तू, दिखला दे ज़िंदा है तू बांकी है तुझमे हौसला।

तेरे जूनून के आगे अम्बर पनाहे मांगे, कर डाले तु जो फैसला। 

रूठी तकदीर तो क्या, टूटी समसिरे तो क्या टूटे समसिरो से भी हो……

कर हर मैदान फ़तेह कर हर मैदान फ़तेह कर हर मैदान फ़तेह रे बंदेया हर मैदान फ़तेह ……  

सकारात्मक बने रहने के लिए ये करिये –

  • आप अपने सोच में पॉजिटिविटी लाइए, आप अपने आप को एक अलग ऊर्जा से भरा हुआ महसूस करेंगे, सभी चीजे अच्छी लगनी लगेगी मन हमेसा प्रसन्न रहेगा। 
  • सबसे बड़ी बात यह है की पॉजिटिव सोच रखने से हर काम पॉजिटिव और आसान हो जाता है। 
  • एक समश्या आपके लिए अपनी बहेतरीन कोशिश करने का मौका है दुनिया को दिखा दीजिये कि टूटने के बाद भी जिन्दा हूँ मै।
  • हर व्यक्ति अपने विचारों से निर्मित है, वो जैसा सोचता है वैसा बन जाता है, इसलिए हमेशा सकरात्मक सोचिये।
  • यदि जुनून आपको आगे ले जाता है, तो उसे हमेशा पकडे रहिये। 
  • जैसा सोच वैसा व्यक्तित्व बनता है इसलिए positive सोचे अच्छा एवं खुश रहें।

दोस्तों सकारात्मक सोच के साथ हमेसा हँसते रहिये पोस्ट कैसा लगा कमेंट में जरूर बताइये, हलाकि बहुत सी कमिया है अभी इस लेख में, और बाते भी बहुत है इस टॉपिक पे, परन्तु मै यहाँ अपना दुख सुनाने नहीं आया हूँ,

अगर कोई गलती हुई हो मुझसे तो मुझे माफ़ करें, मै कोई लेखक नहीं हूँ और यह मेरा पहला लेख है तो गलतियों पर क्षमा करें, उम्मीद करता हु हमेसा अच्छा करने का प्रयाश करूंगा – धन्यवाद,  

सकारात्मक सोच, पॉजिटिव सोच की ताकत, निरंतर पोसिटिव सोच से लाभ। (Positive thinking, power of positive thinking, benefits from continuous positive thinking.)

RELATED ARTICLES

Leave a Reply

Most Popular

close button