Business idea : इस बिजनेस के माध्यम से लाखों की कमाई कर रहे हैं लोग, गांव में सबसे अधिक चलता है यह बिजनेस

Without investment business ideas : आज के टाइम पे नौकरी के सहारे केवल घर का गुजारा ही चलाया जा सकता है. संपत्ति बनाना और अपने शौंक को पूरा करना नौकरी से बहुत मुश्किल है.

ऐसे में हजारों तरह के बिजनेस आइडियाज (Business Ideas) है जिनको शुरुवात में पार्ट Time और जब अच्छी कमाई होने लगे तो बाद में full Time शुरू करके महीने के लाखों कमाया जा सकता है. आज ऐसे ही Low Investment Business Idea को आप जानने वाले हैं जिससे बिल्कुल कम खर्चे पर शुरू करके लाखों कमाया जा सकता है.

लाख उत्पादन के बिजनेस से करें लाखों की कमाई

Low Investment Business Idea

जानें – लाख के बिजनेस में लाख का उत्पादन कैसे होता है?

लाख एक प्रकार का प्राकृतिक राल है. जो लाख कीट अर्थात लेसी फेरा (Leccifera lacca) के मादा कीट द्वारा स्त्राव के कारण बनता है. पुरे विश्व में लाख कीट की नौ प्रजातियां पाई जाती है परन्तु भारत वर्ष में केवल 2 ही प्रजातियां है. जिनका नाम लेसीफेरा और पैराटेकारडिना है.

इनमे से लेसीफेरा की लेक्का उपजाति मुख्य रूप से पुरे भारत में पाई जाती है. इसकी दो प्रजातियां कुसमी और रंगीनी होती है. लाख कीट अपना जीवन शिशु कीट के रूप में शुरू करता है. यह शिशु कीट टहनियों का रस चूसते हुए अपना जीवन यापन करता है. कुछ समय पश्चात शिशु कीट टहनियों के एक स्थान पर बैठकर स्थायी रूप से रस चूसते रहते हैं और लाख का स्त्राव करके अपने शरीर के ऊपर एक आवरण बनाते हैं.

लाख का नर व्यस्क कीट. शंखी (प्यूमा) से निकलने के बाद मादा व्यस्क कीटों से प्रजनन करने से तीन दिन बाद मर जाता है. प्रजनन के बाद मादा कीटों द्वारा अत्यधिक मात्रा में लाख का स्त्राव होता है. तथा इसके साथ-साथ अण्डों का विकास होता है. एक मादा कीट पंद्रह दिनों तक शिशु को जन्म देती है जिसकी संख्या 400 तक होती है.

मादा कीट का जीवन चक्र पूरा होते-होते लाख का स्त्राव बंद हो जाता है. और शिशु के बाहर आ जाने के बाद मादा कीटों की मृत्यु हो जाती है. शिशु जिस डंठल (लाख पेड़ की टहनियों) में रहते हैं. उस डंठल को बहीन लाख कहते हैं.

लाख के Business में फसल की खेती कैसे की जाती है?

भारत में कुसमी और रंगीन दो प्रकार की लाख फसल होती है. कुसमी लाख कुसुम के पौधे पर होती है जबकि रंगीनी लाख मुख्यतः पलाश, बेर के पौधे इत्यादि पर पाले जाते हैं. कुसमी तथा रंगीनी इन दोनों लाख के प्रकार की साल में दो फसल ली जाती है.

कुसमी लाख की फसल प्रक्रिया –

लाख फसल कटाई
ठण्ड में जून-जुलाई जनवरी-फरवरी
गर्मी में जनवरी-फरवरी जून-जुलाई

रंगीनी लाख की फसल प्रक्रिया –

लाख फसल कटाई
वर्षा में जून-जुलाई अक्टूबर-नवम्बर
गर्मी में अक्टूबर-नवम्बर जून-जुलाई

लाख के Business के लिए उपयुक्त पौधों को जानें

  • रंगीनी लाख की फसल हेतु पलाश, बेर, गूलर, पीपल इत्यादि उपयोगी है.
  • कुसमी लाख की फसल के लिए मुख्य वृक्ष कुसुम है.
  • इस प्रकार के पौधे जिसमे रंगीनी और कुसमी दोनों प्रकार के लाख कीट पाए जाते हैं इसके अंतर्गत आकाशमनी, गलवग, भलिया, और पुतरी आते हैं.

लाख के बिजनेस (Business) में कीट पालन की प्रक्रिया

यहाँ हमने लाख के Business Ideas के लिए आधुनिक पद्धति से कीट पालन की प्रक्रिया का वर्णन किया है –

पेड़ों की कटाई-छटाई करना

पोषक पेड़ों में कोमल तथा रसदार टहनियाँ पाने के लिए पेड़ों की हल्की कटाई छटाई बीच-बीच में आवश्यक है. जिससे लाख कीट का पालन आसानी से किया जा सके पलाश वृक्ष की कटाई-छंटाई हमेशा पतझड़ के बाद नई कोपलें आने से पहले की जानी चाहिए तथा बेर फसल की कटाई छटाई मई महीने में करना चाहिए.

फूंकी उतारना

बीहन लाख से शिशु कीट निकल जाने के बाद बंधी लाख डंठलों को फूंकी कहते हैं, शिशु कीट के बीहन लाख से निकल जाने के बाद डंठलों को पेंड से हटा लेना चाहिए अन्यथा इनमे मौजूद शत्रु कीट बीहन लाख में जन्मे शिशुओं पर आक्रमण करना शुरू कर देते हैं.

लाख फसल की कटाई

रंगीनी लाख की ग्रीष्म कालीन और वर्षा कालीन फसल संचारण के क्रमश 8 और 4 महीने बाद परिपक्व हो जाती है. इसी प्रकार कुसमी की ग्रीष्मकालीन और शीतकालीन फसल क्रमश: जून-जुलाई और जनवरी-फरवरी में तैयार हो जाती है. परिपक्व फसल को फिर से बीहन लाख के लिए उपयोग करना हो तो पेड़ों को सहीं समय पर कीटों के निकलने के समय से काटते हैं. लेकिन यदि छिली लाख के रूप में उपयोग करना हो तो समय से पहले भी काटा जा सकता है.

लाख की छिलाई

फसल तैयार हो जाने के पश्चात लाख युक्त डंठलों तथा फूंकी लाख डंठलों में से लाख को खुरचकर अलग किया जाता है. इस विधि को लाख छिलाई कहते हैं तथा इस खुरची लाख को छायादार स्थान में जमींन पर फैलाकर सुखाया जाता है तथा सुखाने के बीच-बीच में छिली लाख को पटकना पड़ता है.

खण्ड तरीके से लाख की खेती

पोषक वृक्षों को खण्डों में बराबर संख्या में बांटकर लाख की खेती करने को खंड प्रणाली कहते हैं. इस प्रणाली से लाख की खेती करने के कई लाभ हैं जैसे – फसल लगातार मिलती रहती है. बीहन लाख की कमी नहीं होती वृक्षों को आराम का पूरा समय मिलता है. शत्रु कीटों का प्रकोप कम होता है तथा लाख का उत्पादन अधिक होता है.

लाख के Business में भविष्य

लाख उत्पादन और लाख की आद्योगिक इकाइयाँ ये दोनों ही रोजगार प्रदान करने वाली है यह छत्तीसगढ़ के लगभग सभी क्षेत्रों में पाया जाता है, इसलिए यहाँ इसे कृषि का दर्जा दिया गया है. भारत में इसे समझने संरक्षित करने और इसकी खेती करने की आवश्यकता है. लाख के कारोबार में दिन ब दिन बढ़ती हुई लाख की महगाई इसका भविष्य उज्जवल करती है.

लाख की Business में कमाई

जैसा की पहले ही बताया गया है लाख का बिजनेस ऐसा बेहतरीन बिजनेस है जिसे अधिकार लोग ध्यान नहीं देते और हर साल स्वयं से फसल हो जाने पर उसे काटकर लाखों कमाते हैं ऐसे में लाख की खेती को एक Business के तौर पर लिया जाये तो इसकी कमाई का आंकलन नहीं किया जा सकता

औसतन एक वृक्ष पर 5 Kg के लगभग लाख प्राप्त किया जाता है. और बाजार में लाख का मूल्य न्यूनतम 500 रूपये होता है तथा यह कीमत साल-दर-साल बढ़ती ही जा रही है. वह दिन दूर नहीं जब लाख की खेती को सोना उत्पादन की खेती कहा जाएँ ऐसे में आप इस Low Investment Business Idea को जरूर अपनाएं

अन्य बिजनेस आर्टिकल


आखिर में

हमे पूरी उम्मीद है कि आपको हमारा यह लेख… Low Investment Business Idea (लाख उत्पादन के बिजनेस से करें लाखों की कमाई) पसंद आया होगा. कृपया करके इस लेख को अधिक से अधिक Shear करें ताकि ज्यादा से ज्यादा लोग इसका लाभ उठा सके. अगर लेख से संबंधित किसी प्रकार की शिकायत हो तो Comment Box के माध्यम से हमें अवश्य कहें.

अगर आप रोजाना इसी तरह के उपयोगी आर्टिकल पढ़ना चाहते हैं तो हमारे टेलीग्राम ग्रुप और जीमेल को सस्क्राइब कर ले जिसका लिंक नीचे दिया हुआ है. पढ़ने के लिए और हमारे घंटों की मेहनत को सफल बनाने के लिए – धन्यवाद.

RELATED ARTICLES

Leave a Reply

Most Popular

close button