[20 तरीके] एसिड एल्कलाइन बैलेंस सुधारने के लिए | स्वास्थ्य का राज एसिड एल्कलाइन बैलेंस

स्वास्थ्य का राज एसिड एल्कलाइन बैलेंस : कहा जाता है जान है तो जहान है जीवन के सभी सुखों का आनंद लेने के लिए उचित स्वास्थ्य अनिवार्य है. जीवन का सबसे पहला कर्तव्य ही है अपने आप को स्वस्थ रखना, कई सपने आपका इंतज़ार कर रहें है इसलिए इन lifestyle जनित रोगों को दूर भगाएं और खुलकर मस्ती से अपनी जिंदगी जियें.

परन्तु हमारी life की सबसे बड़ी परेशानी यह है कि हम पैसे कमाने के चक्कर में अपने स्वास्थ्य को गवां देते हैं और फिर स्वास्थ्य को वापस पाने के चक्कर में अपने पैसे भी गवाते हैं.

अभी के समय अधिकतर लोग जीवनशैली (lifestyle) से सम्बंधित अनेक बिमारियों से ग्रस्त हैं, जैसे कि डायबिटीज़, हृदयरोग, किडनी से सम्बन्धित बीमारियां अस्थमा एवं अर्थराइटिस। जो लोग ऐसे बीमारी से ग्रषित नहीं है वे यह जान लें की इन बिमारियों के लक्षण जैसे बढ़ता हुआ वजन, ऊर्जा की कमी होना, आदि जिन्हे बढ़ती उम्र का कारण समझकर इसपे ज्यादा ध्यान नहीं दिया जाता

एसिड एल्कलाइन और पीएच मान क्या है – What is Acid Alkaline and pH Value

यह बात प्रत्येक व्यक्ति को पता होना चाहिए की lifestyle जनित बिमारियों का मुख्य कारण शरीर में बढ़ता एसिड एल्कलाइन का स्तर है। सभी व्यक्तियों के शरीर में एसिड-एल्कलाइन का एक निश्चित स्तर होता है जिसे हम PH मान (पी एच स्केल) के रूप में मापते हैं। ph के मान को 1 से लेकर 14 तक मापा जाता है। अगर आपके शरीर का ph माप 1 से लेकर 7 के बीच है, इसका अर्थ है की आपका शरीर एसिटिक है, और अगर आपके शरीर का ph मान 7 से लेकर 14 के बीच है तब आपका शरीर एल्कलाइन है.

नोट : यदि आपके शरीर के PH स्केल का माप 7.1 से 7.4 के बीच में आता है तब आपका शरीर बिल्कुल स्वस्थ है और आपका ph माप सही है। क्योकि एसिटिक से थोड़ा सा ऊपर एल्कलाइन, शरीर को ऊर्जावान और सभी बिमारियों से दूर रखने के लिए बिल्कुल सही है.

शरीर में एसिड एल्काइन के बढ़ने से क्या होता है?

शरीर में अम्ल (एसिड) की मात्रा हमारे द्वारा खाये-पिए पदार्थों के पचने या यूँ कहे की उनके संघटन से प्राप्त होता है. अगर हमारे शरीर में एसिड की मात्रा बढ़ जाती है तो इसे अवशोषित करने (सोखने) के लिए हमारा शरीर हड्डियों से कैल्शियम और मैग्नीशियम को सोखता है. परिणाम स्वरुप धीरे-धीरे हमारी हड्डियां कमजोर होने लगती है. और इन सब का कारण हमारी बढ़ती हुई उम्र में एसिड एल्कलाइन बैलेंस का बिगड़ना होता है इससे शरीर को जो प्रभाव पड़ता है वह निचे है –

  • हड्डियों के कमजोर हो जाने के कारण सीढ़ी चढ़ने में कष्ट होना
  • डाइटिंग करने के बाद भी लगातार आपके वजन का बढ़ना
  • हड्डियों में जकड़न होना
  • एसिडिटी की समस्या
  • पेट का फूलना
  • बदहजमी होना
  • थकान
  • माशपेशियों का जकड़न
  • त्वचा चेहरे की चमक कम हो जाना

ऊपर बताये गए सभी समस्याओं को आप यह सोंच कर नजरअंदाज कर देते हैं की यह सब लक्षण बढ़ते उम्र का है, परन्तु ऐसा नहीं है शरीर में बढ़ा हुआ अम्ल अर्थात एसिड इन सब का कारण है. और इसे सुधारने के लिए आपको अपने खान-पान को सुधारना होगा, अपनी दिनचर्या अपनी lifestyle में सुधार लाना होगा। परन्तु इससे पहले यह समझ लेते हैं की आप कौन सी गलतियां कर रहें है जिसकी वजह से आपका एसिड एल्कलाइन का स्तर अनबेलेंस है.

शरीर में एसिड अम्ल का स्तर क्यों बढ़ता है?

एसिड-एल्कलाइन के बिगड़ने या अनबैलेंस होने का सबसे प्रमुख कारण प्रोटीन का क्रेज़ है. हमारे शरीर में प्रोटीन जब पचता है तो इससे यूरिक एसिड उत्पन्न होती है. इसलिए मांशाहारी भोजन से परहेज करना आवश्यक है और साथ ही चीनी, मिठाई, जंकफूड (पिज्जा, पास्ता, मैगी इत्यादि डिब्बों में बंद पदार्थ) जैसे चीज़ों से दूर ही रहें.

तम्बाकू सेवन, काफी, कोला का सेवन भी शरीर में एसिड स्तर को बढ़ाने में सहायक होता है जिसे टॉक्सिन्स भी कहते हैं। और साथ ही साथ जिंदगी में बढ़ती तनाव रोजाना का भागदौङ भी हमारे शरीर के लिए जहर के सामान कार्य करता हैं.

20 तरीके बढे हुए एसिड एल्काइन बैलेंस को सुधारने के

अगर हमारी समस्या खान-पान और lifestyle से सम्बंधित है तब इसका उपाय भी भोजन और lifestyle में ही निहित है। इन उपायों को अपनाने के बाद आप बढ़ती उम्र में भी ऊर्जा से भरे हुए रहेंगे और केंसर, डायबिटीज, और हृदयरोग जैसे गंभीर बिमारियों से भी बच सकते हैं.

जब हमारे शरीर में टॉक्सिस या एसिड की मात्रा बढ़ जाती है तो धीरे-धीरे यह आपकी इम्युनिटी सिस्टम को कमजोर कर देता है। और शर्दी, खांसी, जुकाम आपको मौसम के परिवर्तन के साथ परेशान करते हैं। अपच, गैस, कब्ज की समस्या भी सताने लगती है.

चलिए जानते है एसिड एल्कलाइन को बैलेंस करने या सुधारने के 20 शुत्र के बारें में की कैसे आप अपने खान-पान में आसान बदलाव करके अपने एसिड एल्कलाइन को नियंत्रित कर सकते हैं –

  1. सुबह उठते साथ गर्म पानी में निम्बू का रस मिलकर पिए, हालांकि निम्बू का स्वाद अम्लीय होता है, परन्तु यह आपके शरीर में टॉक्सिस को बाहर निकालने में मदद करता है.
  2. सप्ताह में कम से कम दो बार नारियल पानी अवश्य पीना चाहिए।
  3. अगर आप किसी तरह का एंटीबायोटिक खा रहें हो तो प्रत्येक दिन पिने का प्रयास करें।
  4. विटामिन C जैसे आंवला और टमाटर का भरपूर सेवन करें।
  5. नास्ते में केला के साथ स्नेक को अवश्य शामिल करें, इससे शरीर की टॉक्सिन्स भी बाहर निकल जाते हैं।
  6. नाश्ते में अंकुरित मुंग और बेसन का चीला अवश्य खाएं।
  7. आराम बहुत ही जरुरी है, रोजाना 8 घंटे का नीद अवश्य लें।
  8. दूध, दही, पनीर इत्यादि का जरुरत के हिसाब से सेवन करें, अत्यधिक प्रयोग ना करें।
  9. स्नैक्स में अलसी के बीज, पानी वाले सिंघाड़े, बादाम, ताज़ा नारियल खाएं, समोसा और जलेबी से परहेज करें।
  10. अपने खाने में प्याज, सकरकंद, शलजम, तोरोइ, लौकी, करेला, भिंडी आदि को शामिल करें, हालांकि कुछ सब्जियाँ बेस्वाद होती है परन्तु एसिड एल्कलाइन बेलेंस के लिए बहुत ही मददगार होती हैं।
  11. अदरक, लहसुन, लालमिर्च, हल्दी इन मसालों का उपयोग अवश्य करें।
  12. पानी में निम्बू का रस मिलाकर कम से कम दिन में 2 बार अवश्य पियें।
  13. अपने भोजन में घी और मक्खन को शामिल करें और परहेज़ करना ही है तो रिफाइंड तेल व डालडे से करें।
  14. चाय, काफी, कोला इत्यादि का जितना कम हो सके उतना कम उपयोग करें, और बाजार की खाने की चीज़ों से बचे।
  15. रात में सोने से पहले आयुर्वेदिक मल्टीविटामिन अवश्य सेवन करें।
  16. रोजाना कम से कम एक घंटा व्यायाम अवश्य करें।
  17. इससे शरीर का बढ़ा हुआ एसिड स्वेद और पेशाब के माध्यम से निकलता है इसलिए व्यायाम अत्यंत उपयोगी है।
  18. ध्यान, योग अवश्य करें, भक्ति व सकारात्मक सोंच में मन को लगाएं।
  19. हमेसा अपनी दिल की सुने और वह जो कहे वही करे, मन को मारकर जीवन ना जियें।
  20. भोजन हमेसा ताज़ा ही करें, बासी भोजन से परहेज़ करें। भोजन को हमेसा बचाकर फ्रीज़ में रखने और माइक्रोवेव का उपयोग बहुत कम करें।

ये ऐसे 20 उपाय है जिसका पालन करके आप लम्बे समय तक स्वस्थ रह सकते हैं और अपने एसिड-एल्कलाइन में सुधार ला सकते हैं.

अन्य पढ़ें


आखिर में

हमे पूरी उम्मीद है कि आपको हमारा यह लेख… [20 तरीके] एसिड एल्कलाइन बैलेंस सुधारने के लिए पसंद आया होगा. कृपया करके इस लेख को अधिक से अधिक Shear करें ताकि ज्यादा से ज्यादा लोग इसका लाभ उठा सके. अगर लेख से संबंधित किसी प्रकार की शिकायत हो तो Comment Box के माध्यम से हमें अवश्य कहें.

अगर आप रोजाना इसी तरह के उपयोगी आर्टिकल पढ़ना चाहते हैं तो हमारे टेलीग्राम ग्रुप और जीमेल को सस्क्राइब कर ले जिसका लिंक नीचे दिया हुआ है. पढ़ने के लिए और हमारे घंटों की मेहनत को सफल बनाने के लिए – धन्यवाद.

RELATED ARTICLES

Leave a Reply

Most Popular

close button