सपनों का रहस्य और इसका महत्व | secret of dream in hindi

dream in hindi
dream in hindi

सपनों का रहस्य (dream in hindi) : कहा जाता है की सपनों के बारे में पिछले पांच हजार साल से लगातार शोध चल रहा है। परन्तु अभी भी यह उलझन सुलझ नहीं पाया कि क्या वास्तविक जीवन स्वप्नों का में कोई महत्व है।

अगर सपनों का महत्व है भी तो सपनों का रहस्य क्या है ? (what is the secret of dream in hindi) सपनों के रहस्य पर सबकी अपनी अपनी राय है।

कुछ इसे सिर्फ मन का वहम मानते हैं और कुछ इसे भविष्य का रास्ता दिखाने वाला आइना या हमारे जीवन का मार्गदर्शक के रूप में मानते हैं…..परन्तु स्वप्न (dream in hindi) की सच्चाई क्या है ? 

(सपनों के विषय में अगर आपकी कोई राय हो तो आप हमें अवश्य बताएं – हम उसे अपने लेख में प्रकाशित करेंगें .

विषय-सूची

वैज्ञानिकों के आधार पर सपनों का रहस्य – The mystery of dream in hindi)

वैज्ञानिकों और शोधकर्ताओं का मानना है… हमारे मस्तिष्क के आस-पास चौबीस करोंड रक्त नालियों और शिराओं की एक मोटी पट्टी बनी होती है। जिसमे हमारे चेतन और अचेतक दृश्य एकत्रित रहती है और जब समय आता है तो यही दृश्य हमे स्वप्न के रूप में दिखाई देते हैं। 

रुसी वैज्ञानिकों के आधार पर सपनों का रहस्य (The mystery of dreams based on Russian scientists hindi)

रुसी वैज्ञानिकों के आधार पर स्वप्न आना को साधारण नहीं माना जा सकता। बल्कि इसके पीछे कुछ सचाई या कुछ मकसद होता है, हालाँकि यह बात अलग है की हम स्वप्न के अर्थों को समझ नहीं पाते। 

और दूसरी बात यह है की स्वप्न (सपनें) कुछ ही समय के लिए आते हैं, इसलिए सुबह-सुबह हमें याद नहीं रहते। रुसी वैज्ञानिकों के आधार पर एक स्वस्थ व्यक्ति रात में सोते समय 5 से 7 स्वप्न जरूर देखता है। 

अमेरिका के वैज्ञानिकों के आधार पर सपनों का रहस्य (The Mystery of Dreams Based on America’s Scientists)

अमेरिका के स्वप्न (dream) विशेषज्ञ जार्ज हीच की पुस्तक “ड्रीम dream” में सबूतों के साथ यह बताया गया है। व्यक्ति सपनों के द्वारा ही अपने जीवन को पूरा कर पाता है। हमारे जीवन में जितनी भी परेशानियां और उलझने हैं, उन सभी का जवाब स्वप्न (dream in hindi) के पास है।

साथ ही ये भी कहा गया है कि प्रकृति ने मानव शरीर को इस प्रकार बनाया है। जहाँ मानव के जीवन में किसी भी प्रकार की परेशानी या दुविधा हो…उन सभी समस्याओं का हल प्रकृति सपनों के माध्यम से दे देती है। 

हमारे शरीर के अंदर 2 प्रकार की स्थितियां है –

  • चेतन मन
  • अचेतन मन