गृह-व्यवस्था क्या है अच्छे से समझें | What is Housekeeping in hindi.

गृहव्यवस्था कोई आसान और छोटा काम नहीं है. गृहव्यवस्था (housekeeping) यह अपने आप में महत्वपूर्ण व जिम्मेदारियों से भरा हुआ काम हैं. चूँकि यह साफ-सफाई और रखरखाव का कार्य हैं।

इसलिए देखा जाये तो अन्य कार्यों से इसका दर्जा कहीं ज्यादा ऊपर हैं। इस लेख – गृहव्यवस्था क्या है? (housekeeping in hindi) में गृह-व्यवस्था सम्बंधित सारे कार्यों को जानेंगे जिससे आपको गृहव्यवस्था के बारे में basic जानकारी मिल जाएगी 

विषय-सूची

गृह व्यवस्था क्या है – What is Housekeeping in hindi

आप जानते ही होंगे कि गृह-व्यवस्था (housekeeping) और साफ़-सफाई की जरूरत घरेलु और व्यावसायिक दोनों क्षेत्रो में पड़ती है. गृह व्यवस्था की परिभाषा यह है कि…. विविध परिसरों जैसे घर, होटल, रिहायशी सुविधाओं आदि के maintenance और साफ़ सफाई की व्यवस्था करना गृह-व्यवस्था (housekeeping) कहलाता है

इसके अंतर्गत साफ़-सफाई से लेकर लॉन्ड्री सम्बंधित कार्य किये जाते हैं। यह एक आसान काम नहीं है.. ग्राहक व अतिथियों को एक स्वस्छ और दुर्गन्ध रहित माहौल उप्लब्ध कराना एक हाउसकीपर (गृह प्रबंधक) का दायित्व होता है।

गंदा गृह व्यवस्था किसी भी ग्राहक का ध्यान भटका सकता है, जिससे व्यापार में गलत प्रभाव पड़ता है। इसलिए मालिकों को गृहव्यवस्था जैसे जरूरत पर विशेष ध्यान देना चाहिए व कुशल गृह-व्यवस्था स्टाफ रखना चाहिए। 

गृह व्यवस्था की आवश्यकता क्यों है – Need of Housekeeping in hindi

Housekeeping

आज के समय में हर व्यक्ति स्वास्थ्य के प्रति जागरूक हो चूका है और वह अपने जीवन में जरा सा भी लापरवाही नहीं बरतना चाहता है। क्योकि थोड़ी सी लापरवाही अभी के समय में बहुत भारी पड़ सकती है।

वैसे भी मोदी जी द्धारा चलाये गए “स्वस्छ भारत मिशन” का का प्रभाव लोगों पे काफी पड़ा है इसीलिए तो आज पूरा देश स्वस्छता का समर्थन कर रहा है, व गांव के लोग हो या शहर के साफ़-सफाई की तरफ उनका थोड़ा ध्यान तो गया ही है। 

अभी का time ऐसा है कि हर व्यक्ति अपने life में पूरी तरह व्यस्त है और जहाँ तक पैसे की बात है, तो वह इतना व्यस्त केवल पैसों के लिए ही तो है।

ऐसे में कोई व्यक्ति नहीं चाहे गा कि वह थोड़े पैसे बचाने के चक्कर में बीमार पड़ जाए। वह किसी चीज में पैसे खर्च करे या ना करे परन्तु अपने स्वास्थ के प्रति जरूर सजग रहेगा और खर्च करेगा। 

स्वस्छता साफ-सफाई इन्हीं सब को देखते हुए गृहव्यवस्था की आवश्यकता है। 

उद्यमिता और उद्यम के विषय में बेहतरीन जानकरी (आप भी बने एक उद्यमी)

गृह-व्यवस्था के सम्बंधित दायित्व या कार्य – Duties Related to Housekeeping in hindi

  • जो भी बड़े कार्य है उनके लिए टाइम टेबल बनाना। 
  • गृह व्यवस्था की सेवा देते हुए सुरक्षा विशेष सावधानियों का ध्यान रखना। 
  • गंदे जगहों की साफ़-सफाई पर विशेष ध्यान देना। 
  • साफ़-सफाई के लिए आवश्यक वस्तु, उपकरण आदि का उपयोग करना। 
  • बेकार की चीजों को अच्छे तरीके से ठिकाने लगाना। 
  • खिड़की, दरवाजे, कुर्सी, टेबल आदि पर लगे धूल साफ़ करना वेशष सफाई करना। 
  • बाथरूम टॉयलेट आदि को जरूरी रासायनिक दवाइयों से साफ़-सफाई करना। 
  • फर्श और बाथरूम की सफाई रोजाना करना। 
  • कमरों की भी नियमित सफाई करना चाहिए। 
  • रूम की साफ़ सफाई, जालो आदि को ध्यान में रख कर करना 
  • साफ़ सफाई करते समय चिकित्सकीय सलाह वाले उपकरण या रसायनो का प्रयोग करना।

गृह व्यवस्था के कार्य विवरण – Work description of Housekeeping in hindi

गृहव्यवस्था के कार्य को अलग-अलग पद के अनुसार बाटा गया है, इसमें सबका अपना अपना दायित्व और काम होता है. जैसे प्रबंधक का अपना काम होता है, सुपरवाइजर का अपना और हाउसकीपर का अपना अलग कार्य होता है तो चलिए उनके कार्यों को जानते हैं –

गृहव्यवस्था में प्रबंधक के क्या-क्या कार्य होते हैं – Tasks for a manager in housekeeping

  • समूह के सभी सदस्यों की कार्य की योजना बनाना। 
  • कार्य से सम्बंधित निर्देश को स्टाफ के लिए जारी करना।
  • गृह-व्यवस्था (housekeeping) के लिए स्टाफ का प्रबंधन करना। 
  • सभी कमरों व जगहों का निरीक्षण कर उसके अनुसार कार्य करने का निर्देश देना। 
  • गृह-व्यवस्था (housekeeping) के बजट व खर्चो का हिसाब-किताब करना। 

गृह व्यवस्था में सुपरवाइजर के कार्य – Tasks of a housekeeping supervisor in hindi

  • सुपरवाइज़र को चाहिए की वह सभी स्टाफ को उनका कार्य अच्छे से समझा दे।
  • अपने स्टाफ को कार्य करने के लिए शिफ्ट (पाली) में बाट दे ताकि किसी एक को भी कार्य अधिक न लगे, सभी को बराबर कार्य करना पड़े। 
  • नए स्टाफ को अच्छे से ट्रेनिंग दे उन्हें सिखाये की एक हाउस कीपर का कार्य क्या होता है। 
  • अपने स्टाफ द्धारा किये गए कार्यो का निरीक्षण करना। 
  • गृह व्यवस्था (housekeeping) से सम्बंधित कार्य की जानकारी प्रबंधक को देना। 
  • अगर किसी विशेष व्यक्ति के लिए एसाइनमेंट है तो वह कार्य सिर्फ उसी व्यक्ति को सौपना। 

गृह रखरखाव करता के लिए क्या कार्य होनी चाहिए – Tasks for a housekeeper

  • सभी जगहों की साफ़-सफाई करना। 
  • पोछा लगाना व डस्ट की सफाई करना। 
  • कचरा डालने वाले डस्ट बीन को भी साफ़ रखना। 
  • मरम्मत योग्य जगहों जैसे फ्यूज बल्फ आदि की मरम्त करना। 
  • बाथरूम, बेसिन, कमोड़, आदि को साफ़ रखना। 
  • वैक्यूम क्लीनिंग करना कार्पेट व दरियो की। 

गृह-व्यवस्था की कुछ सुरक्षा व सावधानियां – Safety Precautions in Housekeeping hindi

  • गृह-व्यवस्था एक दैनिक कार्य है जिसमे निम्न सावधानिया बरतनी चाहिए। 
  • जितने भी स्टाफ कर्मचारी है उनका आपस में सामजस्य ताल-मेल अच्छा होना चाहिए। 
  • कार्य करते समय विद्युत क्षेत्रो का विशेष ध्यान रखना चाहिए व सावधानी से कार्य करना चाहिए। 
  • यह ध्यान रखना चाहिए की रासायनिक कैमिकल को साफ़-सफाई करते समय बहुत ही सावधानी बरते। 
  • धारदार, नुकीले उपकरण का उपयोग सावधानी से करे, और वजन वाले सामान को भी ध्यान से इधर-उधर करे। 
  • कुर्सी टेबल ज्यादातर लकड़ी की होती है, तो ऐसे चीज़ो को ध्यान से साफ़ करे व धूल झाड़े, उन्हें खरोच से बचाये।

FAQ – गृह व्यवस्था संबंधित कुछ प्रश्नों के जवाब

गृह व्यवस्था क्या है?

विभिन्न परिसरों में घर की साफ-सफाई रख-रखाव करना और अपने घर को स्वस्छ रखना गृह व्यवस्था कहलाता है।

गृह व्यवस्था का महत्वपूर्ण उद्देश्य क्या है?

आज के व्यस्त समय में साफ सफाई बहुत ज्यादा महत्वपूर्ण है इसलिए सफाई रखना और बिमारियों को दूर भगाना गृह व्यवस्था का महत्वपूर्ण उद्देश्य है।

वर्तमान युग में गृह व्यवस्था क्यों आवश्यक है?

वर्तमान समय में बढ़ती हुई गंदगी और बिमारियों को मद्दे नजर रखते हुए गृह व्यवस्था की आवश्यकता है।

गृह कार्य से क्या तात्पर्य है?

गृह व्यवस्था का तात्पर्य अपने घर के रख-रखाव व सफाई से हैं ताकि बिमारियों और गंदगियों का निपटारा किया जा सके।

गृह व्यवस्था की परिभाषा क्या है?

विभिन्न जगहों जैसे घर, बाथरूम, किचन, होटल रूम इत्यादि स्थानों की साफ-सफाई और बेहतर रख-रखाव गृह-व्यवस्था कहलाता है यही इसकी परिभाषा है।

गृह व्यवस्था का महत्व

गृह व्यवस्था का महत्व आज के समय में सर्वाधिक है, हम रोजाना नए-नए बिमारियों से परिचित हो रहे हैं जिनमे से ज्यादातर बिमारियों का कारण गन्दगी और साफ़-सफाई ना रखना है। हम अपने दैनिक जीवन में रोजाना पैसों के लिए भाग-दौड़ करते हैं पैसे कमाते हैं। और साफ-सफाई का ध्यान ना देते हुए उन्ही पैसों को अपने बिमारियों के इलाज में लगाते हैं। यह बिलकुल ठीक नहीं है इसलिए बिमारियों के आने से पहले गृह व्यवस्था के महत्व को समझते हुए साफ-सफाई रखना उचित होगा।

गृह व्यवस्था का उद्देश्य लिखिए

गृह व्यवस्था का उद्देश्य घरों को साफ़-सुथरा रखना, होटलों की सफाई रखना, टूटे-फूटे चीजों की मरम्त करना और अपने ग्राहकों को या घर के लोगों को एक साफ़-सुथरा और दुर्गन्ध रहित माहौल प्रदान करना …. खासकर विभिन्न बिमारियों को विशेष ध्यान देते हुए एक स्वस्छ माहौल का निर्माण करना गृह व्यवस्था का उद्देश्य है।

आपने पढ़ा, हमारा लिखना सफल हुआ – आप किस चीज के बारे में जानना चाहते हैं, हमें comment करे, काम के लेख पढ़ने के लिए रोज आते रहें – informationunbox.com पर।

अंतिम शब्द

आशा करतें है की आपको हमारा यह लेख गृहव्यवस्था क्या है, गृह व्यवस्था के कार्य व गृहव्यवस्था के दायित्व (What Is housekeeping in hindi) पसन्द आये, और आपके काम आये,

अगर जानकारी अच्छी लगी हो तो इसे Shear जरूर करें और हमारे टेलीग्राम ग्रुप से जुड़ें ताकि नई-नई जानकारी आपको आपके मोबाईल फोन पर मिल सके । अगर हमारे लिए कोई सुझाव हो तो कॉमेंट जरूर करे- धन्यवाद,

अन्य पढ़ें 

RELATED ARTICLES

Leave a Reply

Most Popular

close button